June 13, 2024
chess kaise khela jata hai

शतरंज का खेल कैसे खेला जाता है? | Chess game rules in hindi

नमस्कार दोस्तो, आपने अपने जीवन के अंतर्गत शतरंज के खेल के बारे में बहुत सुना होगा, अनेक जगह पर शतरंज के खेल के बारे में बातचीत होती है, इसके अलावा महाभारत के अंतर्गत भी शतरंज की काफी बात की गई है। दोस्तों क्या आप जानते हैं, कि शतरंज का खेल कैसे खेला जाता है, यदि आपको इस विषय के बारे में कोई जानकारी नहीं है, तथा इसके बारे में जानना चाहते हैं, तो इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको इसके बारे में संपूर्ण जानकारी देने वाले हैं।

हम आपको इस पोस्ट के अंतर्गत हम आपको बताने वाले हैं कि शतरंज का खेल कैसे खेला जाता है, तथा इसके अलावा हम आपको इस विषय से जुड़ी हर एक जानकारी इस पोस्ट में देने वाले हैं।

शतरंज का खेल कैसे खेला जाता है? | chess kaise khelte hain hindi mein

दोस्तों शतरंज पूरी दुनिया भर के अंतर्गत एक काफी पॉपुलर खेल है, और बड़ी-बड़ी खिलाड़ियों ने इस खेल के माध्यम से पूरी दुनिया भर के अंतर्गत मामला काफी नाम कमाया है, तो आइए हम सतरंज से जुड़ी संपूर्ण जानकारी प्राप्त करते हैं :-

शतरंज क्या होता है? | shatranj kya hai

शतरंज एक प्रकार का खेल होता है जिसको एक बोर्ड के ऊपर खेला जाता है, और इस बोर्ड पर लगभग 64 बॉक्स होते हैं, तथा इसके अंतर्गत 32 सफेद बॉक्स होते हैं, तथा 32 काले रंग के बॉक्स होते हैं, तथा इसी 64 बॉक्स वाले बोर्ड के ऊपर इस शतरंज के खेल को खेला जाता है।

शतरंज के खेल के अंतर्गत दिमाग का काफी बड़ा योगदान रहता है, क्योंकि इस खेल को पूरी तरह से दिमाग से ही खेला जाता है, इसके अलावा इसमें और कोई भी शारीरिक किरिया नहीं करनी होती है, आपको सिर्फ इसके अंतर्गत अपने दिमाग को लगाना होता है, तथा इस खेल को खेल ना होता है।

शतरंज का खेल कैसे खेला जाता है? | shatranj kaise khela jata hai

ghode per khele jaane wala khel

शतरंज के खेल को खेलने के लिए सबसे पहले चेस बोर्ड पर गोटिया जमाई जाती है, इसके अलावा भाव से लोगों को इन्हें मोहरे के नाम से भी जाना जाता है। इस खेल के अंतर्गत कुल 32 गोटिया होती हैं, जिसके अंतर्गत 16 सफेद होती होती है, तथा 16 काले रंग की गोटी होती है। हर प्रतियोगी के पास 1 राजा, 1 रानी/वजीर ,2 हाथी, 2 ऊंट , 2 घोड़े , 8 प्यादे/सैनिक कुल मिलाकर सोलह गोटी होती है

इन गोटियों के अंतर्गत शामिल होते है, तथा इन गोटियों को निम्न तस्वीर की तरह जमाया जाता है :-

तथा जब खेल शुरू होता है तो दोनों खिलाड़ियों को बारी-बारी से अपनी एक-एक गोटियां चलनी होती है, और इसके अंतर्गत प्रत्येक गोटी के लिए एक नियम निर्धारित किया जाता है, तथा उस नियम को ध्यान में रखते हुए ही आपको भी मोतियों को चलना होता है। इसके अंतर्गत यदि किसी भी बॉक्स के अंतर्गत आप की गोटी पहले से ही मौजूद है, तो उस पर आप दोबारा से अपनी गोटी नहीं चल सकते हैं, इसके अलावा यदि उस बॉक्स के अंतर्गत आपकी विपक्ष की खिलाड़ी की गोटी है तो आप उसकी गोटी को मार भी सकते हैं।

गोटियों की शक्तियां

जैसा कि हमने आपको बताया कि प्रत्येक गोटी के पास अलग-अलग प्रकार की शक्ति होती है, तथा उसके अलग-अलग नियम निर्धारित किए जाते हैं जो निम्न प्रकार से हैं:-

  1. राजा – दोस्तों राजा को इस खेल के अंतर्गत सबसे महत्वपूर्ण भूमिका के अंतर्गत रखा जाता है, राजा इस खेल के अंतर्गत एक नॉर्मल गोटी नहीं होता है, बल्कि यह इस पूरे गेम की एक महत्वपूर्ण कड़ी होता है, इस गेल के अंतर्गत आपको अपने राजा को बचा कर रखना होता है, यदि आपके राजा को विपक्षी टीम के खिलाड़ी के द्वारा मार दिया जाता है, तो आप यह गेम हार जाते हैं।

राजा की गोटी को आप किसी भी दिशा के अंतर्गत है, एक कदम चला सकते हैं।

  1. रानी – शतरंज के खेल के अंतर्गत रानी को सबसे ताकतवर गोटी माना जाता है, इसके अलावा इसको बंजीर भी कहा जाता है, यह भी किसी भी खिलाड़ी की रानी की गोटी मर जाती है, तो उसके लिए यह गेम जीतना काफी ज्यादा मुश्किल हो जाता है।

रानी कोठी को आप किसी भी दिशा के अंतर्गत कितने भी कदम तक चला सकते हैं, तो ऐसे में आप समझ सकते हैं कि यह गोटी कितनी महत्वपूर्ण होती है, तथा इस खेल के अंतर्गत इसकी कितनी महत्वपूर्ण भूमिका होती है।

  1. हाथी – चेस की खेल के अंतर्गत हाथी भी एक काफी महत्वपूर्ण गोटी मानी जाती है, इसको आप आगे, पीछे, खड़ा, आड़ा कितने भी वर्ग तक चला सकते हैं, लेकिन हाथी को कभी भी तिरछा नहीं चलाया जा सकता है।
  2. ऊठ – ऊंट भी इस खेल के अंतर्गत एक काफी महत्वपूर्ण कोठी मारी जाती है। हर एक प्रतियोगिता के अंतर्गत दोनों खिलाड़ियों के पास दो-दो होते हैं, ऊंट को सिर्फ पैसा चलाया जा सकता है, तथा अब ऊंट को तिरछा कितने भी कदम तक चला सकते हैं, लेकिन आपको इसको दूसरे कलर के अंतर्गत चलाना होता है, यानी कि यदि आपका ऊंट काले रंग का है, तो आपको ऐसे सफेद रंग के बॉक्स में चलाना होता है।
  3. घोड़ा – घोड़ा इस शतरंज के खेल के अंतर्गत एक काफी महत्वपूर्ण गोटी मारा जाता है, क्योंकि यह बाकी गोटियों की तरह नहीं होता है, बल्कि घोड़ा किसी भी गोटी के ऊपर से चलाया जा सकता है, यह एकमात्र ऐसा गोटी होती है, जो बाकी कोठियों के ऊपर से चली जा सकती है, इसके अलावा इसकी चाल L आकार के अंतर्गत होती है।
  4. सैनिक या प्यादा – दोस्तों सैनिक या प्यादा किसी भी शतरंज के खेल के अंतर्गत काफी कमजोर गोटी माने जाते हैं, यानी कि सबसे कमजोर गोटी मानी जाती है, दोनों ही खिलाड़ियों के पास कुल 8, 8 प्यादे होते हैं, प्यादा सिर्फ शुरुआती 2 वर्ग के अंतर्गत ही चल सकता है, इसके अलावा उसके बाद सिर्फ यह एक कदम ही चल सकता है, इसके अलावा आप प्यादे को कभी भी पीछे नहीं चला सकते हैं, इसके अलावा आप सैनिक या प्यादा को तिरछा चला कर सामने वाले की गोटी मार सकते हैं।

तो इस तरीके से आपको इन अलग-अलग नियमों को ध्यान में रखते हुए शतरंज के खेल के अंतर्गत गोटियों को चलना होता है, तथा अपने गेम को खेलना होता है।

निष्कर्ष

तो इस पोस्ट के अंतर्गत हमने आपको बताया, कि शतरंज का खेल कैसे खेला जाता है, तथा शतरंज के खेल के अंतर्गत कौन-कौन से नियम होते हैं, घनत्व कितने प्रकार होते हैं, इसके अलावा इस विषय से जुड़ी अन्य जानकारी अभी हमने आपके साथ शेयर की है। हमें उम्मीद है कि आपको यह जानकारी पसंद आई है, फिर तो आपको इस पोस्ट के माध्यम से कुछ नया जानने को मिला है।

FAQ

शतरंज बोर्ड में कितने खाने होते हैं? (shatranj board mein kitne khane hote hain)

वर्ग पर कुल 64 वर्ग या वर्ग होते हैं, जिनमें 32 वर्ग काले या अन्य रंग के होते हैं और 32 वर्ग सफेद या अन्य रंग के होते हैं। खेलने वाले दो खिलाड़ियों को आमतौर पर ब्लैक एंड व्हाइट भी कहा जाता है।

शतरंज का खेल कितने खिलाड़ी खेल सकते हैं?

2 खिलाड़ी

शतरंज का दूसरा नाम क्या है?

शतरंज भारत के प्राचीन खेलों में से एक है और इस खेल की उत्पत्ति भारत में हुई थी जिसे पहले ‘चतुरंग’ कहा जाता था। इसकी उत्पत्ति के समय से ही अनेक कथाएँ प्रचलित हैं और अनेक भारतीय ग्रन्थों में इसका उल्लेख सहज ही देखा जा सकता है। पहले इस खेल को केवल राजा-महाराजा ही खेलते थे, बाद में सभी इसे खेलने लगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *